चुन्दडी जयपुर त मंगवाई गजबण पाणी न चाली Lyrics in Hindi | Hariyanvi Song

चूंदड़ी जयपुर त मंगवाई
र इंडी सोने की घडवाई

चूंदड़ी जयपुर त मंगवाई
र इंडी सोने की घडवाई

गले म कंठी गेर क न
टोकणी चांदी की ठाई

रूप कति निखरा
पाट रया जिकरा
बहु कई मान गी काल्ली

दामण नीचै पेहरि जुत्ती
बण गी देखो चीज कसूती

या गजबण पानी न चाली
गजबण पाणी न चाली

नौलखे न फ़ैल करै तेरे माथे आला टिक्का
आंख्या के काजल क आगै सारा सौदा फीका
नौलखे न फ़ैल करै तेरे माथे आला टिक्का
आंख्या के काजल क आगै सारा सौदा फीका

चाँद का टुकड़ा
बैरण का मुखड़ा
कसूती गाला प लाली

दामण नीचै पेहरि जुत्ती
बण गी देखो चीज कसूती
या गजबण पाणी न चाली
या गजबण पाणी न चाली
या गजबण पाणी न चाली
गजबण पाणी न चाली

पायल भी प्यारी लागै और खुड़का भी अनमोल कति
झुमके भी दिखै स महँगे पाट्या कोन्या तोल कति
पायल भी प्यारी लागै और खुड़का भी अनमोल कति
झुमके भी दिखै स महँगे पाट्या कोन्या तोल कति

या देखो हाँसी
करै बदमाशी
नाक म नथली या डाली

दामण नीचै पेहरि जुत्ती
बण गी देखो चीज कसूती
या गजबण पाणी न चाली
या गजबण पाणी न चाली
या गजबण पाणी न चाली
गजबण पाणी न चाली

अम्बरा आली हूर परी कुछ कोन्या इसके आगै
मुकेश जाजी देख लिये आज भीड़ कुँए प लागै

गाम का मौसम
बण ग्या ओसम
बाजी दिला म टाली

दामण नीचै पेहरि जुत्ती
बण गी देखो चीज कसूती

या गजबण पाणी न चाली
या गजबण पाणी न चाली(x2)

गजबण पानी न चाली….

About lyricsmysearchindia@768

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *